जब पाकिस्तानी क्रिकेटरों के साथ जासूस बनकर आयी थी उनकी बीबियाँ फिर जानें कैसे बेनकाब हुआ पाकिस्तान…

जब पाकिस्तानी क्रिकेटरों के साथ जासूस बनकर आयी थी उनकी बीबियाँ फिर जानें कैसे बेनकाब हुआ पाकिस्तान…

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम आखिरी बार 2012-2013 में भारत दौरे पर आई थी। कई पाकिस्तानी क्रिकेटर अपने परिवार के साथ उस समय भारत आए थे। अब पता चला है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने खिलाड़ियों के साथ उनकी बी​वी को जासूस बनाकर भेजा था। ये खुलासा PCB के पूर्व अध्यक्ष जका अशरफ किया है। उन्होंने बताया है कि 2012-2013 की द्विपक्षीय सीरीज के दौरान उन्हें पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर भारत में कुछ गड़बड़ करने का शक था। इसलिए उन्होंने हर खिलाड़ी के साथ उसकी बीबी के जाने का बंदोबस्त किया था।

बता दें कि पूर्व के भारत दौरे पर कई पाकिस्तानी खिलाड़ी मैच के बाद पार्टियों में मस्ती करते हुए पाए गए थे। इसे ध्यान में रखते अशरफ ने सोचा कि अगर खिलाड़ी के साथ उनकी बीबी होंगी तो वे देर रात तक बाहर नहीं घूमेंगे। यह फैसला पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर नजर रखने के लिए लिया गया था। अशरफ को डर था कि कहीं भारतीय मीडिया के हाथ कुछ लग गया तो इससे PCB और पाकिस्तान की इमेज खराब हो सकती है। इसलिए अशरफ ने तय किया कि खिलाड़ियों की हरकतों पर नजर रखने के लिए उनकी बीवी साथ रहेंगी।

अशरफ ने आरोप लगाया कि जब भी पाकिस्तान की टीम इंडिया के दौरे पर आती थी तो भारतीय मीडिया उनके खिलाड़ियों की छवि खराब करने की कोशिशों में रहता था। इससे पूरा पाकिस्तान बदनाम हो सकता था। ऐसे में किसी भी बदनामी के खतरे से बचने के लिए उन्होंने बीवियों को जासूस बनाकर भेजने का फैसला किया।

बता दें कि 2012-2013 में पाकिस्तानी टीम 3 वनडे और दो टी-20 मैच खेलने भारत आई थी। टी-20 सीरीज बराबरी पर समाप्त हुई थी, जबकि वनडे सीरीज में पाकिस्तानी टीम ने जीत दर्ज की थी। इस दौरे पर मोहम्मद हाफिज, अजहर अली, युनूस खान, मिसबाह-उल-हक, कामरान अकमल, उमरगुल आदि पाकिस्तानी क्रिकेटर आए थे। उस दौरे के बाद से ना तो पाक खिलाड़ी कभी भारत दौरे पर आए और ना ही टीम इंडिया कभी पाकिस्तान गई। अब इन दोनों चिर प्रतिद्वंद्वियों का मुकाबला केवल आईसीसी प्रतियोगिताओं में ही होता है।