नहीं रहे मन और संकल्प से दृढ़ मुलायम 

समाजवादी पार्टी (सपा) संरक्षक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का 82 वर्ष की आयु में निधन हो गया है. वे पिछले कुछ दिनों से हरियाणा के गुरुग्राम स्थित मेदांता अस्पताल में भर्ती थे.मुलायम सिंह यादव के निधन पर उनके बेटे और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भावुक हो गए. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि मेरे पिताजी और सबके नेताजी नहीं रहे.

बताया जा रहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने आज सुबह 8 बजकर 15 मिनट पर आखिरी सांस ली. उन्हें 22 अगस्त को मेदांता अस्पताल में भर्ती किया गया था. हालात बिगड़ने पर 1 अक्टूबर की रात को CCU (क्रिटिकल केयर यूनिट) में शिफ्ट किया गया था. बीते 5 दिन से मुलायम सिंह यादव की तबियत गंभीर बनी हुई थी. आज उनका निधन हो गया है.

मुलायम सिंह यादव के निधन की खबर पाकर उनके बेटे अखिलेश यादव अभी-अभी मेदांता हॉस्पिटल पहुंचे हैं. पिछले एक हफ्ते से अखिलेश यादव लगातार मेदांता हॉस्पिटल में मौजूद थे और मुलायम सिंह यादव के स्वास्थ्य को लेकर काफी चिंतित थे. एक बार तो उनकी आंखों से आंसू भी छलक गया था. फिलहाल मेदांता हॉस्पिटल में पूरा यादव परिवार मौजूद है|

मुलायम सिंह यादव के मेदांता हॉस्पिटल में एडमिट होने के बाद से ही पूरा यादव परिवार वहीं मौजूद है. अखिलेश यादव, उनकी पत्नी डिंपल यादव, प्रतीक यादव, रामगोपाल यादव, शिवपाल सिंह यादव, धर्मेंद्र यादव, तेज प्रताप यादव समेत परिवार के सभी सदस्य पिछले एक हफ्ते से मेदांता में ही थे. उनके निधन के बाद सभी भावुक हैं.

सैफई में होगा अंतिम संस्कार

मुलायम सिंह यादव का पार्थिव शरीर अभी मेदांता हॉस्पिटल में ही है. बताया जा रहा है कि मुलायम सिंह यादव के पार्थिव शरीर को उनके गांव सैफई लाया जाएगा. यहीं पर उनका अंतिम संस्कार होगा. नेताजी के निधन पर सैफई में लोगों की भीड़ इकट्ठा होने लगी है. सभी भावुक हैं और कई लोग तो नेताजी को याद करके रो रहे हैं.

Advertisements