Shardiya Navratri 2022 : ये हैं कलश स्थापना शुभ मुहर्त, जानें कैसे इस शारदीय नवरात्रि बना सकते हैं बेहद शुभ

Shardiya Navratri 2022 : ये हैं कलश स्थापना शुभ मुहर्त, जानें कैसे इस शारदीय नवरात्रि बना सकते हैं बेहद शुभ

Shardiya Navratri 2022 : शारदीय नवरात्रि सोमवार 26 सितंबर से शुरू हो रहा है। इस बार मां दुर्गा हाथी पर सवार होकर आ रही हैं। घटस्थापना मुहूर्त समय भी पंडित-पुरोहितों ने जारी किया है। पंडितों की मानें तो इस बार के शाहदीय नवरात्रि फलदायक होंगे। शुभ संयोग बन रहा है। मांगलिक कार्यों की शुरूआत के लिए बेहतर मुहूर्त भी बनेंगे।

नवरात्रि 2022 की तिथियां 26 सितम्बर 2022 दिन सोमवार को नवरात्रि का पहला दिन होगा। प्रतिपदा में मां शैलपुत्री की पूजा की जाएगी। 27 सितम्बर 2022 दिन मंगलवार, द्वितीया दिवस मां ब्रह्मचारिणी की अराधना। 28 सितम्बर 2022, बुधवार, तृतीय दिवस मां चंद्रघंटा की पूजा 29 सितम्बर 2022, गुरुवार, चतुर्थी को मां कुष्मांडा की पूजा 30 सितम्बर 2022, शुक्रवार, नवरात्रि की पंचमी को मां स्कंदमाता की पूजा 01 अक्टूबर 2022, शनिवार षष्ठी दिवस मां कात्यायनी की पूजा 02 अक्टूबर 2022, रविवार नवरात्रि की सप्तमी को मां कालरात्रि की पूजा 03 अक्टूबर 2022 दिन सोमवार को अष्टमी है। इस दिन मां महागौरी की पूजा होगी। 04 अक्टूबर 2022, मंगलवार को नवमी है। मां सिद्धिदात्री सिद्धि प्रदान करेंगी। 05 अक्टूबर 2022, बुधवार को दशमी है। इस दिन मां दुर्गा प्रतिमा विसर्जन किया जाएगा। मां को विदाई दी जाएगी।

यह भी पढ़ें :-  सालों बाद एयरपोर्ट पर स्पॉट हुईं जीनत अमान, स्टाइल और ग्लैमरस अंदाज देख फैंस बोले- अब भी चेहरे पर वही नूर है

घटस्थापना मुहूर्त :घटस्थापना सुबह का मुहूर्त – सुबह 06:18 से 07:53अवधि – 01 घण्टा 35 मिनटघटस्थापना अभिजीत मुहूर्त: सुबह 11:54 से दोपहर 12:40 बजे तक

बन रहा शुभ संयोग

इस बार शारदीय नवरात्रि के पहले दिन दो बेहद शुभ योग का संयोग बन रहा है। योग में शक्ति की आराधना करने से व्यक्ति के भाग्य खुल जाएंगे। इस साल अश्विन नवरात्रि बेहद खास मानी जा रही है, इसका कारण है नवरात्रि के पहले दिन शुभ योग का संयोग बनना और साथ ही इस मां दुर्गा का आगमन हाथी पर होना है। देवी का ये वाहन शुभ संकेत लेकर आता है।

यह भी पढ़ें :-  शाहरुख खान की लाडली सुहाना ने खोल दिये घर के राज़, कहा मेरी माँ मेरे पिता ….

शुभ योग ब्रह्म योग – 26 सितंबर 2022 की सुबह 08 बजकर 06 मिनट से 27 सितंबर 2022 की सुबह 06 बजकर 44 मिनट तक

शुक्ल योग – 25 सितंबर 2022 की सुबह 09 बजकर 06 मिनट से 26 सितंबर 2022 की सुबह 08 बजकर 06 मिनट तक

Advertisements