बी-टाउन की सबसे चर्चित जोड़ी शाहरुख खान और गौरी इन दिनों सुर्खियों में हैं। बॉलीवुड के चुनिंदा जोड़ियों में से एक शाहरुख और गौरी इतने सालों से प्यार में हैं और हमेशा एक-दूसरे के साथ रहे हैं।

इन दोनों की प्रेम कहानियों से तो पूरा इंटरनेट भरा पड़ा है लेकिन आज हम आपको जो कहानी बताने जा रहे हैं वह बेहद अनोखी है और हमें यकीन है कि आपने इसे पहले कभी नहीं सुना होगा |शाहरुख और गौरी की शादी को करीब 28 साल हो चुके हैं। लेकिन यह शादी इतनी आसान नहीं थी क्योंकि गौरी एक हिंदू ब्राह्मण परिवार से हैं और शाहरुख खान एक मुस्लिम परिवार से हैं इसलिए उनकी शादी में कई बाधाएं आईं।

वहीं, परेशानी की बात यह थी कि शाहरुख खान उस समय तक फिल्म इंडस्ट्री में सफलता हासिल नहीं कर पाए थे, वह उस समय तक संघर्ष कर रहे थे। आखिरकार 26 अगस्त 1991 को उनका सपना सच हो गया और उन्होंने एक दूसरे से शादी कर ली। जबकि शाहरुख और गौरी ने भी शादी की थी जिसमें गौरी का नाम आयशा था।

एक इंटरव्यू में बोलते हुए शाहरुख ने कहा था कि ”गौरी के ज्यादातर रिश्तेदार इस शादी से खुश नहीं थे, क्योंकि वे पुराने जमाने के थे. वे आपस में बात कर रहे थे कि लड़का मुसलमान है.लड़की को भी मुसलमान बना देगा गा उसका नाम भी बदल देगा।” उन्होंने आगे कहा कि मैंने मजाक में कहा कि मैंने गौरी को नमाज अदा करने के लिए कहा है, उसे बुर्का पहनना है, बस इतना ही उसने कहा और गौरी का पूरा परिवार शांत हो गया।

‘इस इंटरव्यू में शाहरुख बताते हैं कि ‘वो सभी पंजाबी में बात कर रहे थे और मैंने उस समय गौरी से कहा कि ‘चलो गौरी बुर्का पहनो और नमाज पढ़ना शुरू करो’ वहां मौजूद लोगों को लग रहा था कि हमने गौरी का धर्म परिवर्तन पहले ही करा दिया हो।

Advertisements