संतो ने भरी हुंकार, योगी की बने सरकार, जानिए मंदिर और मोदी-योगी की जोड़ी के बारे में क्या कहा?

UP ELECTIONS 2022:-विधानसभा चुनाव को लेकर जहां एक तरफ चुनाव आयोग सख्त है तो वहीं दूसरी तरफ संत समाज एकबार फिर योगी आदित्यनाथ की सरकार बनाने की तैयारी कर रहा है. संत समाज बाकायदा मंच से माइक साउंड और बैठक करके योगी सरकार के कामो को गिनाकर संतो का वोट योगी आदित्यनाथ की झोली में डालने के लिए अपील कर रहा है. धर्मनगरी चित्रकूट के रामायणी कुटी में विश्व हिन्दू परिषद् के बैनर तले एक चिंतन बैठक बुलाई गई. जिसमे धर्मनगरी चित्रकूट के दिग्गज संत महात्माओं सहित अयोध्या न्यास के महामंत्री चम्पत राय ने शिरकत की.

योगी की वजह से बन रहा मंदिर-संत
इस चिंतन बैठक में संतो ने योगी सरकार के फायदे गिनाये और कहा कि अगर संत समाज की भलाई, मठ मंदिरों की सुरक्षा और उद्धार चाहते हैं तो एक बार फिर योगी सरकार को लाना होगा. अलग अलग संतो ने सैकड़ो संतो की मौजूदगी में कहा कि मोदी और योगी सरकार की वजह से ही आज अयोध्या में राम मंदिर बन रहा है. अगर आप सभी चाहते हैं कि अयोध्या में राम मंदिर बनकर तैयार हो तो हमें योगी सरकार को फिर लाना होगा तभी रामलला को उनके स्थान पर विराजमान करवा पाएंगे.

चित्रकूट में विश्व हिन्दू परिषद कानपुर प्रांत के धर्माचार्य संपर्क विभाग की हुई इस बैठक में जमकर हिन्दू मुस्लिम के मुद्दे में धार देते हुए चुनावी माहौल बनाया गया. काशी विश्वनाथ के जितेंद्र नन्द सरस्वती ने कहा कि अगर होली माननी है और राम मंदिर का निर्माण होने देना चाहते हैं तो केंद्र और प्रदेश की जोड़ी बनाये रखिये. प्रदेश में योगी आदित्यनाथ और केंद्र में नरेंद्र मोदी की जोड़ी को उन्होंने राम लक्ष्मण की उपाधि देते हुए कहा कि 2015 को शुक्रवार को होली का त्योहार पड़ा था और सपा की सरकार थी जिसमे सरकार ने एलान किया था कि 11 बजे तक होली खेली जायेगी फिर मुसलमानो को जुमे की नमाज है तो होली खेलना बंद कर दें.

इस बार भी होली मार्च में है और अगर आप फिर होली खेलना चाहते हैं तो इस जोड़ी को बनाये रखें. इस बैठक में अलग-अलग भगवाधारियों ने जमकर हिन्दू मुस्लिम और गैर सरकारों पर तीखे हमले करते हुए मौजूदा सरकार को फिर वापस लाने पर जोर दिया. बैठक के मुख्य अतिथि चम्पत राय ने मीडिया की मौजूदगी को देखते हुए इशारे इशारे में मौजूदा सरकार के गुणगान किये तो कांग्रेस सरकार पर तीखे हमले किये और फिर से योगी आदित्यनाथ को कुर्सी तक पहुंचाने की अपील की. 

Advertisements