राणा विक्रम सिंह की अगुवाई में विकलांग सेवक संघ ने की बिहार और दिल्ली में भी कश्मीर फाइल्स को टैक्स फ्री किये जाने की मांग, समर्थन में निकाली रैली

राणा विक्रम सिंह की अगुवाई में विकलांग सेवक संघ ने की बिहार और दिल्ली में भी कश्मीर फाइल्स को टैक्स फ्री किये जाने की मांग, समर्थन में निकाली रैली

कश्मीरी पंडितों के पलायन पर आधारित फ़िल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ इस समय काफ़ी चर्चा में है। भले ही फिल्म का प्रमोशन बहुत ज्यादा नहीं हुआ हो लेकिन इसे जनता का जबरदस्त समर्थन मिल रहा हैं । इसी का नतीजा है सिनेमाघरों में फिल्म को देखने के लिए लोग उमड़ पड़े हैं।

अब तक फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ सात भाजपा शासित राज्यों में टैक्स फ्री हो चुकी है। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के अलावा फिल्म कर्नाटक, हरियाणा, गुजरात, मध्य प्रदेश और गोवा में भी टैक्स फ्री हो चुकी है। मध्य प्रदेश सरकार ने तो प्रदेश की सभी पुलिसकर्मियों को यह फिल्म देखने के लिए छुट्टी का ऐलान तक कर दिया है। कई राज्य की सरकारों ने फिल्म को टैक्स फ्री कर दिया है।

इसी क्रम में कल यानी सोमवार को राणा विक्रम सिंह ने विकलांग सेवक संघ की ओर से फ़िल्म द कश्मीर फाइल्स को दिल्ली और बिहार में भी टैक्स फ्री किये जाने की जोरदार मांग की l राणा विक्रम सिंह ने हमारे संवाददाता से बात करते हुए कहा कि कश्मीर फाइल्स कोई फ़िल्म नहीं बल्कि जीती जागती वास्तविकता हैं l ये फ़िल्म कोई कहानी नहीं बल्कि कश्मीर के हिन्दुओं पर हुए अत्याचार की दर्दनाक आप बीती हैं l उन्होंने देश के विकलांग समुदाय सहित पूरे देश की जनता से अपील की कि वे अधिक से अधिक संख्या में इस फ़िल्म को देखें । इस फिल्म को इसलियें मत देंखियें कि 30 बर्ष पहलें कश्मीर में हिन्दूओं पर किया हुआ था बल्कि इसलियें देंखियें कि अगर हम आज सजग और सचेत नही हुयें तो 30 बर्ष बाद पुरे भारत में क्या होगा ।

कश्मीर फाइल्स के समर्थन में विकलांग सेवक संघ द्वारा राणा विक्रम सिंह के कुशल नेतृत्व में दिल्ली के मुखर्जी नगर इलाके में एक रैली का आयोजन भी किया गया l जिसमें काफ़ी संख्या में लोगों ने शामिल होकर इस फ़िल्म का जोरदार समर्थन किया l लोगों ने ना सिर्फ फ़िल्म का समर्थन किया बल्कि धारा 370 को हटाए जाने के लियें मोदी और भाजपा सरकार को धन्यवाद कहा l इसके साथ ही लोगों से कश्मीरी हिन्दुओं को न्याय मिलें इसकी मांग भी कियें l