Jahangirpuri Violence: न चेहरे पर शिकन, न करतूत पर पछतावा…’पुष्पा’ स्टाइल में जहांगीरपुरी दंगे के आरोपी ने दिखाई अकड़

Jahangirpuri Violence: न चेहरे पर शिकन, न करतूत पर पछतावा…’पुष्पा’ स्टाइल में जहांगीरपुरी दंगे के आरोपी ने दिखाई अकड़

नई दिल्ली: दिल्ली के जहांगीरपुरी (Jahangirpuri) इलाके में शनिवार को हनुमान जयंती (Hanuman Jayanti) शोभा यात्रा के दौरान पथराव और उपद्रव करने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया है। रविवार को 14 आरोपियों को रोहिणी कोर्ट में पेश किया गया। इस दौरान एक आरोपी के चेहरे पर न कोई शिकन थी और न ही उसे करतूत पर कोई पछतावा था। कोर्ट में पेशी पर ले जाते वक्त वह पुलिस के सामने ‘पुष्पा’ स्टाइल में अकड़ दिखाता नजर आया। उधर डीसीपी नॉर्थ-वेस्ट उषा रंगनानी का कहना है कि मामले में अब तक 20 आरोपियों को गिरफ़्तार किया गया है और कानून का उल्लंघन करने वाले 2 किशोरों को भी गिरफ़्तार किया गया है। आरोपितों के कब्जे़ से 3 तमंचे और 5 तलवारें बरामद की गई हैं। मामले में आगे की जांच की जा रही है.

राजधानी दिल्ली के जहांगीरपुरी (Jahangirpuri Riots) इलाके में शनिवार शाम भड़की हिंसा के बाद क्षेत्र में तनाव का माहौल है। फिलहाल स्थिति नियंत्रण मैं है। क्षेत्र में बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है। लगातार पैदल गश्त की जा रही है जिससे कानून और व्यवस्था बनी रहे। पुलिसबलों की तैनाती से लोगों को आश्वस्त किया जा रहा है कि सब ठीक है। इस बीच, हिंसा में शामिल 14 आरोपियों को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसमें अंसार को मास्टरमाइंड तो असलम को मुख्य आरोपी बताया जा रहा है। पुलिस इलाके की सीसीटीवी फुटेज और मोबाइल से रिकॉर्ड किए गए वीडियो से उपद्रवियों की तलाश कर रही है। ऐसे में इस बात की पूरी संभावना है कि हिंसा में शामिल कुछ और लोगों को गिरफ्तार किया जा सकता है। सी-ब्लॉक से गोली चलाई गई थी, ऐसे में वहां कड़ी निगरानी रखी जा रही है। इसके साथ ही क्षेत्र में शांति कायम रखने के लिए DCP नॉर्थ वेस्ट की ओर से थाना जहांगीरपुरी क्षेत्र के कुशल चौक पर अमन कमेटी की बैठक की गई है।

असलम की पिस्टल मिली
दिल्ली पुलिस मामले की विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर रही है जिसे गृह मंत्रालय को भेजा जाएगा। पुलिस ने असलम के कब्जे से हिंसा में इस्तेमाल की गई पिस्टल बरामद करने का दावा किया है। पुलिस सूत्रों ने कहा, ‘असलम को कुछ अन्य लोगों के साथ पकड़ा गया है। उसने धार्मिक स्थल के बाहर गोलियां चलाईं। हमने हथियार बरामद कर लिए हैं और असलम से उसके सहयोगियों के बारे में और जानने के लिए पूछताछ कर रहे हैं। उसे अंसार ने उकसाया था। गिरफ्तार अंसार को मामले में मास्टरमाइंड माना जा रहा है।’

खबर है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल या क्राइम ब्रांच जहांगीरपुरी हिंसा मामले को अपने हाथ में ले सकती है। इस हिंसा में आठ पुलिसकर्मी और एक नागरिक घायल हो गए। हनुमान जयंती पर निकाली गई शोभायात्रा पर उपद्रवियों ने हमला कर दिया था जिससे हिंसा भड़क गई। फिलहाल स्थानीय पुलिस स्पेशल सेल और क्राइम ब्रांच की टीम की मदद से मामले की जांच कर रही है, जिसे स्पेशल सेल को ट्रांसफर किए जाने की संभावना है। मामले की जांच के लिए पुलिस की 10 टीमों का गठन किया गया है। एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘कुल 9 व्यक्ति (8 पुलिस कर्मी और 1 नागरिक) घायल हो गए। सभी को बाबू जगजीवन राम मेमोरियल अस्पताल ले जाया गया। एक एसआई को गोली लगी थी। उनकी हालत स्थिर है।’