कुत्ते के प्रेम में पूरा स्टेडियम खाली कराने वाले IAS पति-पत्नी हो गए एक दूसरे से जुदा, जानें पूरा मामला

कुत्ते के प्रेम में पूरा स्टेडियम खाली कराने वाले IAS पति-पत्नी हो गए एक दूसरे से जुदा, जानें पूरा मामला

दिल्ली के स्टेडियम में आईएएस दंपति का अपने कुत्ते के साथ टहलने (IAS Couple Dog Walk) को लेकर लोग आंख मूंदे हुए थे, लेकिन ट्रांसफर होते ही नया बवाल शुरू हो गया है – महुआ मोइत्रा (Mahua Moitra) और उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) केंद्र सरकार के फैसले पर सवाल खड़े कर रहे हैं.दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में आईएएस दंपति के डॉग-वॉक (IAS Couple Dog Walk) का मामला राजनीतिक रंग ले चुका है. प्रैक्टिस के लिए खिलाड़ी और उनके कोच जाने कब से परेशान थे, लेकिन जब तक मीडिया में रिपोर्ट नहीं आयी थी, किसी का भी ध्यान नहीं गया – और अब ट्रांसफर होते ही राजनीति शुरू हो गयी है

दरअसल, दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में ट्रेनिंग कराने वाले एक कोच ने दावा किया था कि पहले वे रात 8 या 8.30 बजे तक ट्रेनिंग करते थे. लेकिन अब उनको 7 बजे ग्राउंड खाली करने को कह दिया जाता है, ताकि IAS अफसर संजीव खिरवार वहां अपने कुत्ते संग टहल सकें. कोच ने कहा कि इससे उनकी ट्रेनिंग और प्रैक्टिस रूटीन में दिक्कत पैदा हो रही है.

त्यागराज स्टेडियम से जुड़े कोच और एथलीट्स ने अपनी परेशानी का इजहार किया था. कोच ने कहा था कि इससे उनकी ट्रेनिंग और प्रैक्टिस रूटीन में दिक्कत पैदा हो रही है. उन्होंने कहा था कि पहले वे 8.30 या कभी-कभी 9 बजे तक भी प्रैक्टिस कर लेते थे. तब वे हर आधे घंटे में ब्रैक लेते थे. लेकिन अब ऐसा नहीं कर पाते. वहीं कुछ ऐसे भी हैं, जो 3 किलोमीटर दूर जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में जाने लगे हैं.

मीडिया में मामला सामने के बाद विवाद काफी बढ़ गया था. इसके बाद केंद्र सरकार एक्शन में आ गई. सरकार ने IAS अधिकारी संजीव खिरवार का ट्रांसफर लद्दाख और उनकी पत्नी का ट्रांसफर अरुणाचल प्रदेश में कर दिया. बताया जा रहा है कि इस मामले पर मुख्य सचिव ने गृह मंत्रालय को रिपोर्ट सौंपी है. इसी के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

संजीव खिरवार 1994 बैच के आईएएस ऑफिसर हैं. वह अभी दिल्ली के रिवेन्यू कमिश्नर पद पर तैनात थे. उनके अंदर दिल्ली के सारे डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट काम करते थे. साथ ही साथ यह दिल्ली के पर्यावरण विभाग के सचिव भी थे. उन्होंने कंप्यूटर इंजीनियरिंग से बीटेक किया है. साथ ही इकोनॉमिक्स में मास्टर्स की डिग्री भी हासिल की है. उन्होंने अपना करियर चंडीगढ़ में बतौर एसडीएम शुरू किया था. वे दिल्ली के साथ-साथ गोवा अंडमान निकोबार, अरुणाचल प्रदेश और भारत सरकार में भी अहम पदों पर रहे हैं.

उधर, खिरवार ने अपने उपर लगे आरोपों को गलत बताया था. उन्होंने ये तो कबूला था कि वह कभी-कभी कुत्ते को वहां टहलाने लेकर जाते हैं, लेकिन इस बात से इनकार किया था कि इससे एथलीट्स की प्रैक्टिस में रुकावट आती है. दिल्ली सरकार के नियंत्रण वाला त्यागराज स्टेडियम 2010 में कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए तैयार हुआ था.