CBIC के इतिहास में सपा नेता और व्यवसायी के घर से अब तक सबसे बड़ी रिकवरी

नई दिल्ली, उत्तर प्रदेश के कानपुर में बड़े इत्र कारोबारी हुए सपा मुखिया अखिलेश यादव के करीबी पीयूष जैन के घर पर छापेमारी की कार्रवाई जारी है। केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड के इतिहास में कानपुर में इत्र कारोबारी पीयूष जैन के यहां से अब तक 150 करोड़ रुपये की नकदी की बरामदगी कीर्तिमान बन गई है। इससे पहले कभी इतनी नकदी किसी छापे में नहीं मिली। अभी नोटों की गिनती चल रही है। इससे बरामदगी करीब 170 करोड़ रुपये तक पहुंचने का अनुमान है।

नकदी का स्रोत नहीं बता पाने पर जीएसटी इंटेलीजेंस महानिदेशालय अहमदाबाद की टीम ने आनंदपुरी निवासी इत्र कारोबारी के बेटे प्रियांश जैन को हिरासत में लिया और कार से लेकर चले गए। अधिकारियों के मुताबिक, छापे के समय से ही पीयूष जैन वहां नहीं आए। उनके घर में मिले नोटों की गिनती के लिए अधिकारियों को शुक्रवार को नोट गिनने की दो और मशीनें स्टेट बैंक ट्रांसपोर्ट नगर शाखा से मंगवानी पड़ीं।

दूसरी ओर गणपति रोड कैरियर के मालिक प्रवीण जैन के घर व आफिस से विभाग को 1.01 करोड़ रुपये की नकदी मिली। उनसे 3.09 करोड़ टैक्स और जुर्माना जमा कराया गया है।जीएसटी इंटेलीजेंस की टीम ने हाल ही में गुजरात में पान मसाला लदे चार ट्रक पकड़े थे। ये ट्रक शहर के ट्रांसपोर्ट नगर स्थित गणपति रोड कैरियर ट्रांसपोर्ट कंपनी के हैं। ट्रक में माल की इनवाइस फर्जी थी।

इसके साथ ही ई-वे बिल भी जारी नहीं किया गया था। जांच में सामने आया कि ट्रक में लदा शिखर पान मसाला कानपुर में ट्रांसपोर्ट नगर स्थित त्रिमूर्ति फ्रेगरेंस प्राइवेट लिमिटेड का है।

Advertisements