200 वर्षो तक भारत को गुलाम बनाने वाले ब्रिटेन में होगा भरतवंशी ऋषि सिमुक का शाशन, जानें किस परिवार से है ऋषि…

भारतवंशी ऋषि सुनक ब्रिटेन के अगले प्रधानमंत्री बनने की रेस में एक कदम और आगे बढ़ गए हैं। गुरुवार को एलिमिनेशन राउंड के सेकेंड बैलेट रिजल्ट में भी सुनक 101 वोट के साथ टॉप पर रहे। वहीं एक अन्य भारतीय मूल की नेता सुएला ब्रेवरमैन इस राउंड में बाहर हो गईं

ब्रिटेन PM बनने के लिए ऋषि सुनक के सामने सबसे बड़ी चुनौती कंजर्वेटिव पार्टी में अपना नेतृत्व स्थापित करने की है। दरअसल, कंजर्वेटिव पार्टी में नेता चुनने की प्रक्रिया में एक कमेटी शामिल होती है। इस कमेटी के सदस्य पार्टी के सांसद ही होते हैं।

Advertisements

नेता चुनने के लिए तीन स्तर की प्रक्रिया होती है, नॉमिनेशन, एलिमिनेशन और फाइनल सेलेक्शन। सुनक नॉमिनेशन राउंड में सबसे आगे रहे थे। वहीं बुधवार से शुरू हुए एलिमिनेशन राउंड के फर्स्ट बैलेट रिजल्ट में भी वे टॉप पर थे। गुरुवार को एलिमिनेशन राउंड के सेकेंड बैलेट रिजल्ट में भी सुनक सबसे आगे रहे। बता दें कि एलिमिनेशन राउंड की अगली वोटिंग 18 जुलाई को होगी। इस राउंड की आखिरी वोटिंग 21 जुलाई को फाइनल होगी।

ऋषि सुनक इन्फोसिस के चेयरमैन रह चुके नारायण मूर्ति के दामाद हैं। वह यॉर्कशायर के रिचमंड से सांसद हैं। 2015 में संसद में कदम रखन वाले ऋषि कन्जर्वेटिव पार्टी के उन नेताओं में से एक थे, जिन्होंने ब्रिटेन को यूरोपियन यूनियन से बाहर निकलने के बोरिस जॉनसन के फैसले का समर्थन किया था। उनका मानना था कि ब्रिटेन में छोटे बिजनस ब्रेग्जिट बाहर निकलने के बाद बेहतर परफॉर्म करेंगे। सुनक वित्त मंत्री बनने से पहले राजकोष के चीफ सेक्रटरी रह चुके हैं और वित्त मंत्री के सेकंड इन कमांड भी रह चुके हैं।

Advertisements
Advertisements