पूर्व विधि एवं न्याय मंत्री बृजेश पाठक बने उत्तर प्रदेश सरकार में उपमुख्यमंत्री, वरिष्ठ अधिवक्ता रवि शंकर सिंह ने अपने कनिष्ठ अधिवक्ताओं सहित मिलकर दी बधाई

पूर्व विधि एवं न्याय मंत्री बृजेश पाठक बने उत्तर प्रदेश सरकार में उपमुख्यमंत्री, वरिष्ठ अधिवक्ता रवि शंकर सिंह ने अपने कनिष्ठ अधिवक्ताओं सहित मिलकर दी बधाई

योगी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में दो उप मुख्यमंत्री को भी पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई गई है। लखनऊ कैंट से विधायक बृजेश पाठक इस बार डिप्टी सीएम बनाए गए हैं। बृजेश पाठक पिछली सरकार में कैबिनेट मंत्री थे। बृजेश पाठक ने योगी सरकार में विधि एवं न्याय विभाग की जिम्मेदारी संभाली थी। बृजेश पाठक के उपमुख्यमंत्री बनने के बाद लखनऊ में उनके समर्थकों ने जमकर जश्न मनाया। पाठक को इस साल लखनऊ कैंट से टिकट मिला था, जहां उन्होंने जीत हासिल की।

बता दें कि 25 जून 1964 को सुरेश पाठक के घर जन्मे बृजेश ने छात्रनेता के रूप में राजनीति की शुरुआत की। वह 1989 में लखनऊ विश्वविद्यालय छात्र संघ के उपाध्यक्ष और 1990 में अध्यक्ष बने। इसके करीब 12 साल बाद बृजेश ने कांग्रेस की सदस्यता ले ली।2002 में मल्लावां सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े पाठक मात्र 130 वोट से चुनाव हार गए थे। बाद में बसपा जका दामन थाम लिया और उन्नाव लोकसभा क्षेत्र से करीब 18 हजार वोट से जीत दर्ज कर सांसद चुने गए। उनको मायावती ने अपने दल का उपनेता सदन बना दिया। 2009 लोकसभा चुनाव के ठीक पहले बसपा सुप्रीमो ने उन्हें राज्यसभा भेजा और सदन में पार्टी का मुख्य सचेतक बनाया। उनकी पत्नी नम्रता पाठक को राज्य महिला आयोग उपाध्यक्ष बनाकर राज्यमंत्री का दर्जा भी दिया गया।

2014 में ब्रजेश फिर उन्नाव लोकसभा सीट से चुनाव लड़े लेकिन वह तीसरे स्थान पर रहे थे। बृजेश पाठक सूबे में सत्ता परिवर्तन की हवा भांप 22 अगस्त 2016 को भाजपा में शामिल हो गए। भाजपा ने उन्हें लखनऊ मध्य सीट से चुनाव मैदान में उतारा। पार्टी की अपेक्षाओं पर खरे उतरते हुए ब्रजेश पाठक ने सपा सरकार के मंत्री रविदास मेहरोत्रा को पांच हजार से अधिक वोटों से मात दी। अब उन्हें सूबे की भाजपा सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया गया और कानून मंत्री की जिम्मेदारी सौंपी गई |

बृजेश पाठक ने लखनऊ से विधि स्नातक की पढ़ाई की हैं और उन्होंने कुछ समय वकालत भी किया हैं जिसके चलते अधिवक्ता समाज में उनकी अच्छी पकड़ और लोकप्रियता हैं | उनके उपमुख्यमंत्री बनाये जाने से अधिवक्ताओं में काफ़ी उत्साह एवं ख़ुशी हैं | इस अवसर पर उनके छात्र जीवन के साथी और करीबी माने जाने वाले उच्च न्यायालय लखनऊ के वरिष्ठ अधिवक्ता रवि शंकर सिंह ने अपने कनिष्क अधिवक्ताओं के साथ मिलकर उन्हें बधाई दी|इस मौके पर सैकड़ो की संख्या में अधिवक्तागण मौजूद रहे |

अधिवक्ता रवि शंकर सिंह ने बताया कि बृजेश पाठक अपने छात्र जीवन से ही राजनैतिक एवं सामाजिक कार्यों से जुड़े रहे हैं | वह सदैव जरूरतमन्दों और अपने लोगों के सहयोग के लिए तत्पर रहते हैं|उनका स्वभाव बहुत ही सहज़ एवं मिलनसार हैं | उन्होने बताया कि उन्हें पूर्ण विश्वास हैं कि अब उपमुख्यमंत्री पद पर रहते हुए वे देश और प्रदेश के समवेशी विकास में अपनी अग्रणी एवं सराहनीय भूमिका निभाएंगे |