techparimal news
+

दादा मुनि के नाम से मशहूर अशोक कुमार अपने समय के बेहतरीन एक्टर थे. यूं कहे की बॉलीवुड के शुरूआती दशक के एक्टर्स में से एक थे. उनका जन्म एक मध्यम वर्गीय बंगाली परिवार में हुआ था. उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से पढ़ाई की. उन्हें बचपन से फ़िल्मों का शौक था. हालांकि वह एक्टर नहीं निर्देशक बनना चाहते थे. उनके दोस्त शशधर मुखर्जी थे, अशोक कुमार ने अपनी बहन की शादी भी उनसे कर दी. लेबोरेट्री असिस्टेंट काम कर रहे अशोक कुमार को उनके बहनोई शशधर मुखर्जी ने बाम्बे टॉकीज में अपने पास बुला लिया. और यहां से शुरु हुआ उनका फिल्मी सफर.

भारत सरकार ने उन्हें कला के क्षेत्र में उनके योगदानों के लिए पद्म भूषण से सम्मानित किया. बाद में उनके बच्चे भी फिल्मों में आए. कम ही लोग जानते हैं कि उनकी बेटी भारती पटेल एक समय में बॉलीवुड फिल्मों में काम कर चुकी हैं उनके बाद उनकी बेटी और अशोक कुमार की नातिन अनुराधा पटेल ने लव इन गोवा से डेब्यू किया था. फिल्म 1983 में रिलीज हुई. इस फिल्म के बाद अनुराधा ने ‘धर्म अधिकारी’, ‘रुखसत’, ‘सदा सुहागन’ समेत कई फिल्मों में काम किया.

 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by BollyMusicWorld (@bollyworld_vicsvet)

हालांकि अनुराधा 1984 में आई फिल्म उत्सव में एक्ट्रेस रेखा (Rekha) की सहेली के रोल में दिखीं और इस फिल्म से उन्हें बड़ी कामयाबी मिली. फैंस ने उन्हें इस फिल्म में काफी पसंद किया. इस फिल्म में दोनों पर फिल्माया गया एक गाना मन क्यों बहका रे बहका काफी फेमस हुआ था. यह गाना आज भी पसंद किया जाता है. अपने करियर के पीक पर ही उन्होंने टीवी एक्टर कंवलजीत से  शादी कर ली और फिल्मों को अलविदा कह दिया. 10 साल तक फ़िल्मों से दूर रहने के बाद अनुराधा आयशा, जाने तू या जाने ना और रेडी जैसी फिल्मों में साइड रोल में दिखीं. अब अनुराधा मुंबई में पर्सनालिटी डेवलपमेंट, ग्रूमिंग इंस्टिट्यूट चलाती हैं.

Advertisements