सपा की नई सूची में मायावती के खास रहे लोगों को मौका, आजमगढ़ में हो सकता है बाहुबली पिता-पुत्र के बीच मुकाबला

सपा की नई सूची में मायावती के खास रहे लोगों को मौका, आजमगढ़ में हो सकता है बाहुबली पिता-पुत्र के बीच मुकाबला

लखनऊ,समाजवादी पार्टी ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए 56 उम्मीदवारों की नई सूची जारी कर दी। इस सूची में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय को इटावा से टिकट मिला है। फूलपुर पवई से बाहुबली रमाकांत यादव को पार्टी ने मैदान में उतारा है। यहां से रमाकांत के बेटे अरुण यादव भाजपा के विधायक हैं। वहीं, कभी मायावती के खास रहे रामअचल राजभर को अकबरपुर और लालजी वर्मा को कटेहरी से टिकट दिया गया है। पढ़िए सपा की नई सूची में और क्या खास…

कभी मायावती के करीबी रहे रामअचल राजभर और लालजी वर्मा को भी सपा ने टिकट दिया है। दोनों 2017 में बसपा के टिकट पर जीतकर विधायक बने थे। पिछले साल दोनों ने सपा का दामन थाम लिया। लालजी वर्मा को उनकी सीट कटेहरी से तो राजभर को अकबरपुर से टिकट दिया गया है। रामअचल राजभर को टिकट मिलने के बाद अकबरपुर के पूर्व विधायक और सपा सरकार के दौर में मंत्री रहे राममूर्ति वर्मा को साधना सपा के लिए चुनौती होगी।

योगी आदित्यनाथ सरकार में मंत्री रहे दारासिंह चौहान 16 जनवरी को सपा में शामिल हो गए थे। उन्हें पार्टी ने मऊ जिले की घोसी सीट से उम्मीदवार बनाया है। दारा सिंह चौहान 2017 में भाजपा के टिकट पर मऊ जिले की ही मधुबन से जीते थे। 2017 में घोसी सीट से भाजपा के फागू चौहान को जीत मिली थी।

आजमगढ़ जिले की फूलपुर पवई से अखिलेश ने बाहुबली नेता रमाकांत यादव को टिकट दिया है। रमाकांत यादव आजमगढ़ सीट से सासंद और फूलपुर पवई सीट से विधायक रहे हैं। अभी इस सीट पर रमाकांत के बेटे अरुण भाजपा के विधायक हैं। भाजपा उन्हें फिर से टिकट देती है तो इस सीट पर पिता-पुत्र के बीच सीधी लड़ाई होगी।

56 उम्मीदवारों की लिस्ट में पांच महिलाएं हैं। इनमें भोजपुरी फिल्मों को अभिनेत्री काजल निषाद भी शामिल हैं। काजल को गोरखपुर जिले की कैंपियरगंज से उम्मीदवार बनाया गया है। काजल के अलावा बसपा विधायक रहीं पूजा पाल को कौशाबी जिले की चायल सीट से, पूर्व विधायक गजाला लारी को देवरिया जिले की रामपुरकारखाना से, बसपा से आईं सईदा खातून को सिद्धार्थनगर जिले की डुमरियागंज सीट से और रूपवती को खजनी से टिकट दिया गया है।

Advertisements