लडकी को कोठे से आज़ाद कर लाया प्रेमी और रचाई शादी, दिल जीत लेगी इनकी कहानी

नई दिल्ली,दोस्तों प्यार कभी भी किसी से भी हो सकता है और जब ये होता है तो उंच नीच, रंग, जात पात कुछ नही देखता है. लोग अपने प्यार को पाने के लिए हर मुश्किल को पार कर देते है. कुछ लोग तो अपनी जान तक देने से पीछे नही हटते है. प्यार करने के बाद इन्सान में एक अलग ही जनून देखने को मिलता है और वह सामने वाले को पाने के लिए हर हद पार कर जाता है. ऐसी ही एक घटना मध्य प्रदेश में देखने को मिली है. जहाँ आकाश नाम के लडके ने अपनी प्रेमिका को पाने के लिए अपनी जान तक खतरे में डाल दी. आकाश ने अपनी प्रेमिका से शादी कर पुरे समाज को एक सकारात्मक संदेश भी दिया है.

आकाश ने भारती नाम की लडकी से कोर्ट में पहुंचकर शादी की है जहाँ उसके द्वारा उठाये गये कदम को देखकर सभी लोगो ने तालियाँ बजाकर उनका स्वागत किया है. दरअसल भारती और आकाश उस समुदाय में रहते है जहाँ माँ बाप अपनी लडकियों को वेश्यावृत्ति के दंगल में धकेल देते है. छोटी छोटी बच्चियों को गंदे काम करने पर मजबूर किया जाता है.

Advertisements

मालवा के नीमच, मंदसौर और रतलाम जिलो के आसपास इस तरह के समुदाय के 250 डेरे है जहाँ लडकियों को बेचना आम बात है. बांछडा समुदाय में बच्चियों के साथ होने वाले अन्याय को देखकर आकाश ने आवाज उठाई और उसने तय कर लिया कि अगर पुलिस प्रशासन इस गंदगी को नही मिटाता तो वह इसे खत्म करेगा.

जिसके बाद आकाश ने फ्रीडम फर्म नाम के एक NGO के साथ मिलकर 60 लडकियों को गलत काम करने के दलदल से बाहर निकाला. 3 साल पहले रेस्क्यू के दौरान आकाश पहली बार भारती से मिला था. तब वह काफी छोटी थी और आगे पढना चाहती थी जबकि उसकी माँ उसे बेचना चाहती थी. आकाश ने भारती को जैसे तैसे उस नर्क से बाहर निकाला और उसे हॉस्टल पढाई करने भेज दिया था. आज दोनों ने शादी कर प्यार की एक नई मिसाल पेश की है.

Advertisements

भारती को पाना आकाश के लिए आसान नही था लेकिन उसने अपनी जान की परवाह किये बिना उसे आज़ाद किया. इसके बाद आकाश ने भारती को पढने के लिए होस्टल में भर्ती करवाया जहाँ वह सुरक्षित रह सके. भारती की जिन्दगी तो आकाश ने बर्बाद होने से बचा ली लेकिन 250 समुदाय में न जाने और कितनी बच्चियां होगी जिन्हें चंद पैसो के लिए उनके माँ बाप नर्क में धकेल रहे है. हैरानी की बात तो ये है कि प्रशासन इस मामले में कोई कदम नही उठाती है.

 

 

 

 

Advertisements
Advertisements