यूपी में आज किसने कौन सी पार्टी छोड़ी? एक क्लिक में पढ़िए चुनाव से जुड़ी हर बड़ी खबरें

लखनऊ,उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी से सात चरणों में चुनाव होने हैं। इससे पहले राजनीतिक उठापठक तेज हो गई है। चुनाव जीतने के लिए राजनीतिक दलों ने पूरी ताकत झोंक दी है। नेताओं के दल बदलने का सिलसिला भी जारी है। ऐसे में क्या है उत्तर प्रदेश की राजनीतिक हलचल? एक क्लिक में पढ़िए उत्तर प्रदेश चुनाव से जुड़ी सारी खबरें…

भाजपा को झटका, इस नेता ने दिया इस्तीफा आगरा से पूर्व सांसद प्रभु दयाल कठेरिया ने भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष और राष्ट्रीय परिषद के पदों से इस्तीफा दे दिया है। तीन बार के सांसद प्रभु कठेरिया अपने बेटे के लिए टिकट मांग रहे थे, लेकिन नहीं मिला। यही कारण है कि उनके बेटे अरुणकांत कठेरिया ने अब आम आदमी पार्टी जॉइन कर ली है।

का ‘खेला’ बाकी है

प्रसिद्ध चिंतक और लेखक डॉ. राघव शरण शर्मा का कहना है कि उत्तर प्रदेश का चुनाव बहुत रौचक दौर में पहुंचता जा रहा है। उत्तर प्रदेश में हरियाणा की तर्ज पर भाजपा अगर जयंत चौधरी को डिप्टी सीएम बनाकर कुछ उलटफेर कर दे तो क्या होगा। अमित शाह के ‘खेला’ की कल्पना अखिलेश को नहीं है। मुलायम या अखिलेश, अभी तमाम केसों से मुक्त नहीं हुए हैं

मतदाताओं की संख्या के हिसाब से जिले की सबसे बड़ी सीट मेरठ दक्षिण के समीकरण बेहद दिलचस्प हैं। वर्ष 2012 में वजूद में आई इस सीट पर 2017 में भी भाजपा को जीत मिली। मेरठ दक्षिण विधानसभा सीट मुस्लिम बाहुल्य सीट मानी जाती है। इस सीट पर वर्ष -2017 से अब तक 45 हजार 658 मतदाता नए बन चुके हैं। वर्ष 2017 में इस सीट पर मतदाताओं की संख्या चार लाख 28 हजार 854 थी। शास्त्रीनगर, जाग्रति विहार, परतापुर, रिठानी, दिल्ली रोड की कई कॉलोनियां इसी विधानसभा क्षेत्र में आती हैं। 2012 में इस सीट पर पहले चुनाव में ही भाजपा से सोमेंद्र तोमर को टिकट मिला।

 

 

Advertisements