यूपी के ग्राम प्रधानों को मिलेगा देश में सबसे अधिक तनख्वाह : योगी सरकार का बड़ा फैसला

लखनऊ,चुनावी माहौल में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने गांवों में रहने वाले लोगों को बड़ा उपहार दिया है l सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को उत्कर्ष समारोह में प्रदेश की सभी 58,189 ग्राम पंचायत भवनों और ग्राम सचिवालय का लोकार्पण किया l इस सचिवालय से गांव के लोगों को लाभ मिलेगा l

ग्रामीणों को अपने आय, निवास प्रमाण पत्र और जाति प्रमाण पत्र आदि कामों के लिए शहर के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे lग्राम पंचायत सम्मेलन में सीएम योगी ने कहा कि ग्राम पंचायतों में सुधार हुआ है l पीएम मोदी के नेतृव में यूपी आगे बढ़ रहा है l

योगी सरकार ने इस सचिवालय के साथ ही ग्राम प्रधानों के सैलरी और वित्तीय बढ़ाने का भी बड़ा तोहफा दिया है l बात करें सदस्य ग्राम पंचायत की, तो अब तक इन लोगों को कोई भी मानदेय नहीं मिलता था, लेकिन अब से उन्हें प्रति बैठक 100 रुपये दिए जाएंगे और ये बैठक साल में कम से कम 12 बार आयोजित होगी l इसके साथ ही क्षेत्र पंचायत सदस्य को पहले प्रति बैठक 500 रुपये दिए जाते थे, जो अब बढ़ाकर 1000 रुपये प्रति बैठक कर दी गई है l यह बैठक साल में अधिकतम 6 बार आयोजित की जाएंगी l

इसके अलावा जिला पंचायत सदस्य को पहले प्रति बैठक 1000 रुपये दिए जाते थे, जो अब बढ़ा कर 1500 रुपये कर दिए गए हैं l यह बैठक भी साल में अधिकतम 6 बार आयोजित की जाएंगी l इसके अलावा अध्यक्ष जिला पंचायत, ग्राम प्रधान, और प्रमुख क्षेत्र पंचायत इन तीनों के भी मानदेय में बढ़ोतरी की गई है l ग्राम प्रधान की (Gram Pradhan Salary) सैलरी 3500 से बढ़ाकर 5000 रुपये प्रति माह की जा रही है प्रमुख क्षेत्र पंचायत को अब से 9800 रुपये के बजाए 11,300 रुपये प्रति महीने दिए जाएंगे l वहीं जिला पंचायत अध्यक्ष को 14 हजार की जगह 15,500 रुपये हर महीने मिलेंगे l

Advertisements