बच्चे न हो पाने की वजह से मेरी पत्नी मेरे दोस्त के साथ रिश्ते में आ गई, जानें पूरी कहानी

लखनऊ,मैं 31 साल का एक शादीशुदा आदमी हूं। मेरी शादी को 5 साल हो गए हैं। लेकिन अभी भी हमें कोई बच्चा नही है। मैंने अपने और अपनी पत्नी के सभी टेस्ट कराए थे, जिसमें पता चला कि मेरी पत्नी की टेस्ट ट्यूब में ब्लॉकेज है, जिसकी वजह से हम पैरेंट्स नहीं बन पा रहे हैं। डॉक्टर ने हमें IVF द्वारा बच्चा पैदा करने की सलाह दी थी। लेकिन मेरी पत्नी इसके लिए तैयार नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि उसका मानना है कि कमी मुझमें है, जिसकी वजह से वह गर्भवती नहीं हो पा रही।

जब उसे पता चला है कि हम बच्चा पैदा नहीं कर सकते, तो उसका व्यवहार मेरे प्रति एकदम से बदल गया। उसने मेरे सबसे दोस्त से नजदीकियां बढ़ानी शुरू कर दीं। मेरा दोस्त भी इस मामले में धोखेबाज निकला। ऐसा इसलिए क्योंकि उन दोनों को मैंने एक दिन एक-दूसरे के साथ संबंध बनाते हुए पकड़ लिया। दोनों को एक-दूसरे के करीब देख मैं बुरी तरह परेशान हो गया। लेकिन इसके बाद भी मैंने उन दोनों को समझाया कि वह बहुत गलत कर रहे हैं। दोनों को अपनी गलती का एहसास हुआ और उन्होंने मुझसे माफी मांगीं।

हालांकि, मेरी समस्या यह है कि मैं इन सब बातों को भुला नही पा रहा हूं। मैं हमेशा यही सोचता रहता हूं कि अब मैं उन पर आंख बंद करके विश्वास नहीं कर सकता। यही नहीं, इस घटना के बाद मेरी पत्नी ने भी मेरे पूरे परिवार से रिश्ता खत्म कर दिया। वह किसी से भी अच्छे से बात नहीं करती है। मैं अपनी पत्नी को नहीं छोड़ सकता। लेकिन मुझे गुस्सा इस बात को लेकर है कि उसने न केवल मेरे साथ विश्वासघात किया बल्कि जब मैंने उसकी गलतियों पर पर्दा डाला, तो उसने मेरे परिवार को मुझसे अलग कर दिया। मुझे समझ नहीं आ रहा कि अब मुझे आगे क्या करना चाहिए? (सभी तस्वीरें सांकेतिक हैं, हम यूजर्स द्वारा शेयर की गई स्टोरी में उनकी पहचान गुप्त रखते हैं

मुंबई के करुणा अस्पताल में सीनियर मनोचिकित्सक डॉ देवेंद्र कहते हैं कि मैं समझ सकता हूं कि आप इस समय कितनी जटिल स्थिति से गुजर रहे हैं। जिस व्यक्ति को धोखा मिलता है, उसके न केवल आत्मसम्मान को चोट पहुंचती है बल्कि रिश्तों पर से उसका विश्वास भी उठ जाता है। आपके केस में भी मुझे कुछ ऐसा ही समझ आ रहा है। आप अपनी पत्नी के साथ रहना तो चाहते हैं, लेकिन आपको डर है कि कहीं वह आपको फिर से धोखा न दे दें। ऐसी सिचुएशन में सबसे जरूरी तो यह है कि आपको अपने लिए स्टैंड लेना होगा।

अगर आप अपनी पत्नी के साथ रहना चाहते हैं, तो आपको दिल से पूरे इस किस्से को निकालना होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि बहुत बार लोग दिमाग से तो पुरानी बातों को निकाल देते हैं, लेकिन दिल से उन बातों को निकालना उनके लिए मुश्किल होता है, जिसकी वजह से वह चाहते हुए भी बुरी यादों से बाहर नहीं निकल पाते। वहीं अगर आपको लगता है कि आपका रिश्ता अब कभी पहले जैसा नहीं हो सकता, तो इससे बाहर निकलना ही बेहतर है। ऐसा इसलिए क्योंकि आप दोनों रिश्ते के उस पड़ाव में हैं, जहां चीजों को ठीक होने में काफी समय लग सकता है। मेरी कहानी: मेरे पैरेंट्स को लगता है कि मेरी होने वाली सास का अफेयर मेरे मामा के साथ चल रहा है

जैसा की आपन बताया कि आपकी पत्नी का व्यवहार आपके प्रति तब एकदम बदल गया, जब उन्हें पता चला कि वह मां नहीं बन सकती हैं। हालांकि, हम इस तथ्य को सही नहीं मानते हैं। नपुंसकता किसी भी रिश्ते में अपने साथी को धोखा देने का आधार नहीं है। आजकल बच्चे पैदा करने के दूसरे भी बहुत रास्ते हैं, जिन्हें आज के समय में काफी कपल्स अपना रहे हैं। ऐसे में सबसे पहले मैं आपको यही सलाह देना चाहूंगा कि आप अपनी पत्नी से खुलकर बात करें।

अपने इमोशंस को दबाएं नहीं बल्कि अपनी पत्नी के साथ हर उस मुद्दे पर चर्चा करें, जो आपको परेशान कर रहे हैं। आप चाहें तो इसके लिए अपने नजदीक के किसी काउंसलर से भी संपर्क कर सकते हैं। बता दें कि जितना आप अपनी फीलिंग्स को व्यक्त करेंगे, उतना ही आप हल्का महसूस करेंगे। हां, इस दौरान एक बात का ध्यान रखें कि आप अपनी पत्नी को बार-बार उसकी गलती याद न दिलाएं, वरना वह आपसे जुड़ नहीं पाएंगीं।

पति-पत्नी के रिश्ते में प्यार-अफेक्शन और अंतरंगता तीनों ही बहुत मायने रखते हैं। शुरूआती कुछ सालों में तो कपल्स के बीच सब-कुछ परफेक्ट रहता है, लेकिन जैसे-जैसे समय बदलता है, तो फिजिकल इंटिमेसी खत्म होने लगती है। खासतौर से महिलाएं रिश्ते में रहते हुए भी सेक्सुअली कनेक्टेड फील नहीं कर पाती, जिसकी वजह से भी उनका मन अपने साथी से हटने लगता हैl

 

 

 

 

 

 

Advertisements