जानें क्यों पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने भाजपामय होने पर कहा कि “मैं राजनीति का रंगरुट”

लखनऊ,उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Election) से पहले कानपुर में पुलिस आयुक्त के पद पर तैनात रहे आईपीएस अधिकारी असीम अरुण (Police Commissioner Asim Arun) रविवार को लखनऊ स्थित पार्टी के कार्यालय में बीजेपी (BJP) की सदस्यता ग्रहण की. इस मौके पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह (Swatantra Dev Singh) और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) मौजूद रहे.

Advertisements

बीजेपी ज्वाइन करने के बाद असीम अरुण ने कहा कि मैं आज बहुत खुश हूं, संतुष्ट हूं. बीजेपी की नए नेतृत्व को विकसित करने की सोच है. वो इसे एक योजना की तरह चलाते हैं. मैं भी इसी योजना की एक कड़ी हूं. मैं पार्टी का बहुत आभारी हूं कि मुझे ये अवसर दिया. उन्होंने कहा कि मैं राजनीति का रंगरूट हूं, अगर कोई गलती हो तो क्षमा करिएगा.

Advertisements

पूर्व आईपीएस अधिकारी असीम अरुण ने कहा कि योगी राज में यूपी में कानून व्यवस्था बहुत सुधरी है. मैं सीएम योगी को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने पुलिस को ही नहीं बल्कि पूरी व्यवस्था को ऐसी शक्ति दी जिससे सुधार हो सका. उन्होंने कहा कि वंचित-दलित समाज के लिए अभी बहुत सारा काम करना बाकी है. मैं कोशिश करूंगा कि वंचित-दलित समाज आगे बढ़ सके. पूर्व आईपीएस अधिकारी ने बीते दिनों नौकरी से इस्तीफा देकर राजनीति में आने का ऐलान कर दिया था.

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि समाजवादी पार्टी में वो नेता जाते हैं जो दंगे करवाते हैं और बीजेपी में वो लोग आते हैं जो दंगे होने से रोकते हैं. अनुराग ठाकुर ने कैराना से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी नाहिद हसन का नाम लेकर सपा पर निशाना साधा और कहा कि नाहिद हसन के हाथ खून से रंगे हैं. वो लोगों को पलायन के लिए मजबूर करने वाला है और सपा ने उसको प्रत्याशी बनाया है.

Advertisements

Advertisements