जानें उन्नाव में पीएम मोदी ने मंच पर किसके पाँव छुए और क्यों

जानें उन्नाव में पीएम मोदी ने मंच पर किसके पाँव छुए और क्यों

लखनऊ,यूपी चुनाव (UP Chunav) को लेकर सियासी घमासान के बीच पीएम मोदी (PM Modi) की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है. यूपी चुनाव में भाजपा के लिए वोट मांगने उत्तर प्रदेश के उन्नाव पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi Viral Video) की रैली के दौरान मंच पर एक ऐसा नजारा देखने को मिला, जो आज चर्चा का विषय बन गया. दरअसल, उन्नाव में रैली मंच पर एक भाजपा नेता पीएम मोदी की पैर छूने लगा, इस पर पीएम मोदी ने इशारों-इशारों में ऐसा कुछ किया, जिसकी जो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय है.

दरअसल, उन्नाव में रैली के मंच पर जैसे ही पीएम पहुंचे, भाजपा के उन्नाव जिला अध्यक्ष अवधेश कटियार को प्रधानमंत्री को भगवान राम की एक मूर्ति भेंट करने के लिए कहा गया. भाजपा नेता अवधेश कटियार ने भगवान राम मूर्ति भेंट करने के बाद झुककर पीएम नरेंद्र मोदी के पैर छुए. जैसे ही कटियार झूके, तुरंत पीएम मोदी ने अवधेश कटियार को मना किया. उन्होंने हाथ से इशारा कर उन्हें झूककर प्रणाम करने से रोका. हैरान तो लोग तब हो गए, जब शिष्टाचार स्वरूप खुद पीएम मोदी ने अवधेश कटियार के पैर छुए.

भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता अरुण यादव ने इस वीडियो को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है. उन्होंने वीडियो शेयर कर कैप्शन में लिखा- एक कार्यकर्ता के पैर सिर्फ मोदी जी ही छू सकते हैं. वजह ये है कि श्रीराम की मूर्ति देने वाले से खुद के पैर नहीं छुआ सकते. भाजपा नेता द्वारा शेयर किए गए इस वीडियो को खूब पसंद किया जा रहा है. इस ट्वीट पर लोग तरह-तरह के कमेंट कर रहे हैं और जमकर इस नजारे की तारीफ की जा रही है.

बता दें कि उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए अब तक दो चरणों की वोटिंग हो चुकी है. तीसरे चरण में उत्‍तर प्रदेश के कई दिग्‍गजों का भाग्‍य रविवार को EVM में बंद हो गया. पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव की करहल विधानसभा सीट पर भी आज ही वोट डाले गये. इस चरण में पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के साथ ही अवध और बुंदेलखंड क्षेत्र की 59 सीटों का भाग्‍य तय हो गया है. इस चरण में अखिलेश यादव के साथ ही शिवपाल सिंह यादव, लुईस खुर्शीद समेत योगी आदित्‍यनाथ कैबिनेट के कई मंत्रियों की प्रतिष्‍ठा दांव पर है. इस दौर में 2.16 करोड़ मतदाताओं ने 627 कैंडिडेट की किस्मत ईवीएम में कैद कर दी है